fbpx class="post-template-default single single-post postid-2096 single-format-standard custom-background wp-embed-responsive single-post-right-sidebar single-post-single fullwidth-layout columns-3 group-blog">
You are here
Home > हिंदी > Health benefits of neem: नीम के फायदे और उपयोग करने के तरीके

Health benefits of neem: नीम के फायदे और उपयोग करने के तरीके

नीम के फायदे

नीम के फायदे: नीम के लाभों से हम सभी लोग भलिभांति परिचित हैं। आयुर्वेद में भी हजारों सालों से दवा बनाने में नीम का इस्तेमाल किया जा रहा है. ऐसे में रोजाना नीम की पत्तियां चबाने से आपकी सेहत कैसे बेहतर बनी रह सकती है, हम इस महान वनस्पति के बारे में जितना बात करें उनता कम है। वैसे तो नीम की पत्तियों और इसके फलों का स्वाद कड़वा होता है, लेकिन नीम के लाभों को अनदेखा करना कठिन है। यहां हम नीम के फायदे और इसके उपयोग करने के तरीकों के बारे में बात करने जा रहे हैं।

नीम के फायदे

मुंहासों के उपचार से लेकर बालों की रूसी तक, नीम ने हमेशा अपनी योग्यता साबित की है। लेकिन, सवाल यह है कि नीम का उपयोग कैसे किया जाए? बहुत से लोग नीम के सभी लाभों को प्राप्त करने का सही तरीका नहीं जानते हैं। यहां, हम विभिन्न प्रयोजनों के लिए नीम के विभिन्न उपयोगों के बारे में बात करेंगे।

नीम के फायदे और उपयोग करने के तरीके

नीम भारतीय बकाइन या अज़दिराच्टा इंडिका महोगनी परिवार से आता है। नीम के पेड़ का पूरा भाग उपयोगी है चाहे इसके पत्ते, फूल, या बीज। आमतौर पर इसकी पत्तियों का उपयोग हर्बल उपचार के रूप में किया जाता है लेकिन नीम का तेल भी उतना ही फायदेमंद है जितना की इसकी पत्तियां।

इसके अलावा, नीम का उपयोग भारतीय व्यंजनों में तमिलनाडु में नीम के फूल की रसम या वप्पमपु चारू बनाने के लिए किया जाता है। नीम के पत्तों का उपयोग बंगाली ऐपेटाइज़र बनाने के लिए भी किया जाता है जिसे नीम शुरू कहा जाता है। म्यांमार के व्यंजनों में भी, अचार बनाने के लिए नीम की पत्तियों का उपयोग किया जाता है।

लेकिन, चर्म रोगों के इलाज के लिए आयुर्वेद में लोकप्रिय नीम का उपयोग एक औषधि के रूप में किया जाता है। नीम के अन्य स्वास्थ्य लाभों में रक्त विषहरण, रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखना और यकृत स्वास्थ्य में सुधार करना शामिल है।

नीम के उपयोग करने के तरीके

नीम के तेल का प्रयोग करें

नीम के फायदे
नीम के फायदे

त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए इस जड़ी बूटी का उपयोग करने के पर्याप्त तरीके हैं। नीम के तेल को सबसे अच्छा माना जाता है और इसके कुछ विज्ञान-सिद्ध परिणाम भी हैं। लेकिन, हमेशा ऑर्गेनिक नीम के तेल का उपयोग करें जो थोड़ा पीला और बादामी होता है। आप इसकी गंध से इसकी पहचान कर सकते हैं।

इसमें लहसुन या सरसों जैसी खुशबू आती है। जब इसका उपयोग न करें तो तो नीम के तेल को किसी अंधेरी जगह पर स्टोर करें। इसके अलावा, अपने चेहरे पर उपयोग करने से पहले एक सामान्‍य परीक्षण करें। यदि आप परीक्षण किए गए क्षेत्र पर सूजन या लालिमा देखते हैं तो इसका उपयोग करने से बचें।

लेकिन, यदि आपको कोई साइड इफेक्ट दिखाई नहीं देता है तो इसे निम्नलिखित तरीके से उपयोग करें।

  • कपास के सथ इसके तेल का उपयोग करें।
  • प्रभावित क्षेत्र पर लागू करें और कुछ देर लगा रहने दें।
  • बाद में, गर्म पानी से इसे धो लें।

बेहतर परिणाम के लिए आप इसका नियमित रूप से उपयोग कर सकते हैं। यदि आपके पास संवेदनशील त्वचा है, तो इसे साथ अन्‍य तेल जैसे जोजोबा या नारियल तेल के साथ उपयोग करें।

यह भी जरूर पढें – ब्लैक कॉफी पीने से होगें ये 7 जादुई स्वास्थ्य लाभ लेकिन इन बातों का रखें ध्यान-

नीम की पत्तियों के उपयोग के तरीकें

नीम के फायदे
नीम के फायदे

पत्तियों से भी नीम के फायदे लिए जा सकते हैं। बालों के झड़ने और संतुलन के मुद्दों के इलाज के लिए नीम की पत्तियां फायदेमंद हैं। नीम में उच्च फैटी एसिड स्‍केल्‍प के स्वास्थ्य में सुधार करता है और सीबम तेल के अत्यधिक उत्पादन को कम करके बालों के विकास को बढ़ावा देता है।

सीबम ऑयल रोम छिद्रों को बंद कर देता है और इस तरह आपके बालों को जड़ों से नुकसान पहुंचाता है। रोम छिद्रों को खोलने के लिए बालों को धोते समय स्कैल्प पर नीम के पानी का उपयोग करें। बेहतर ब्लड सर्कुलेशन के लिए आप नीम के तेल से मालिश भी कर सकते हैं। लेकिन, नीम के तेल का उपयोग करने के बाद अपने बालों को ठंडे पानी से धोएं।

यह न केवल बालों के झड़ने को रोकता है बल्कि दही के साथ इस्तेमाल करने पर रूसी को भी दूर करता है। दही के साथ नीम का पेस्ट बनाएं और स्कैल्प पर लगाएं। 20 मिनट के बाद अपने बालों को धो लें।

नीम का उपयोग क्लींजर के रूप में

नीम के फायदे
नीम के फायदे

नीम के बालों के लाभों के अलावा, आप त्वचा पर नीम का पेस्ट भी लगा सकते हैं। यह आपको साफ त्वचा देगा और मुँहासे और ब्लैकहेड्स को हटा देगा। इसके लिए नीम के पत्तों को पानी में उबालें और फिर तरल पदार्थ का छिडकाव करें। नियमित रूप से एक कपास की गेंद का उपयोग कर अपने चेहरे पर एक त्वचा टोनर के रूप में इसे लागू करें।

यहां तक कि आप सांस की बदबू जैसी गंभीर समस्याओं के लिए भी नीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। नीम के जीवाणुरोधी गुण खराब सांस लेने वाले बैक्टीरिया को मारते हैं।

ये आपकी त्वचा और बालों पर नीम का उपयोग करने के सरल और प्रभावी तरीके थे। आप वजन घटाने के लिए भी नीम का उपयोग कर सकते हैं। अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए नियमित रूप से खाली पेट पर एक गिलास नीम का रस पियें। बस, कुछ मिनट के लिए पत्तियों को भिगोएँ और फिर कुछ और पानी के साथ जूसर में मिलाएं। नीम का रस तैयार है।

नीम के पानी का नियमित रूप से स्किन टोनर के रूप में उपयोग करने से मुंहासे, निशान, पिग्मेंटेशन और ब्लैकहेड्स साफ करने में मदद मिलेगी। लगभग 20 नीम के पत्तों को आधा लीटर पानी में तब तक उबालें जब तक कि पत्तियां नरम और फीकी न पड़ जाएं और पानी हरा न हो जाए। छान कर एक बोतल में रख लें। इसमें एक कॉटन बॉल डुबोएं और अपने चेहरे पर लगाएं।

यह भी जरूर पढ़े- डायबिटीज हो या ज्वाइंट पेन लौंग दिला सकती है इन 7 बीमारियों को से राहत

Leave a Reply

Top